Author: सुजाता देवराड़ी

माँ तेरी याद में 3

माँ तेरी याद में

माँ तेरी याद में हर पल ये खुद से कहती हूँ इतना सुन्दर रूप सलोना, मन पावन गंगा तेरा। तेरे होने से ये सारा संसार है माँ,हर आस, भाव, ममता की साँस है माँ...

लाइफ कोट - life quotes 1

जज़्बात

नदी मांझी तरंग किनारे पत्थर सब अपनी जगह अपने क़िरदारों को बाखूबी निभा रहे हैं, फिर जज़्बातों का तूफान अपने इरादों को भूलने की गलती कैसे कर सकता है। -सुजाता देवरारी Nadi manjhi tarang...

लव कोट्स -love quotes 0

तेरा इश्क़

ये कैसा अजीब धोखा है तेरे इश्क़ का बेहोश होने पर हँसाती है और होश आने के बाद रुलाती है । ye kaisa ajeeb dhokha hai tere ishq kabehosh hone par hansaati hai aur...

गहरा इश्क़ -love quotes 1

गहरा इश्क़

“लगता है कल मुद्दत से मुलाक़ात उनसे फिर पुरानी सी हुई। चेहरे पर इश्क़ बहुत गहरा चढ़ा है, आज ये आईने ने मुझसे कहा।” © सुजाता देवराड़ी

गलतियाँ life quotas 0

गलतियाँ

गलतियाँ पेड़ के सूखे पत्तों की तरह होती हैं, जब तक किसी का नुकसान नहीं करती तब तक हरी भरी रहकर पेड़ से जुड़ी रहती हैं। लेकिन जब वो अपनी सीमाएँ लाँघ जाती हैं...

झूठे दिखावे 0

झूठे दिखावे

तुमने ज़िंदा रहते जाति-धर्म की जो खोखली लंका खड़ी की थी न आज उसी लंका के नीचे अग्नि को साक्षी मानकर सब जाति धर्म तो एक हो गए मगर तुम ना रहे। खुद को...

कद्र (Kadar) 1

कद्र (Kadar)

अगर किसी की कद्र करनी है तो उसके रहते करो । अगर किसी को अच्छा साबित करना है उसके रहते करो। किसी में खूबियाँ ढूँढने के लिए उसका आपसे दूर जाना जरूरी है क्या?...

संजय राणा 0

संजय राणा-sanjay rana (कहाँ तुम चले गए)

निशब्द हूँ !न केवल मैं, बल्कि हर वो शख़्स जो आपसे कभी रूबरू हुआ था।निःशब्द है हर वो गीत जिनमें मधुरता के साथ साथ आपकी छवी झलकती थी।निशब्द है संगीत की हर वो धुन...