Category: लेख

सॉरी यार 2

शर्मनाक! गर्भवती हथिनी बनी हैवानियत का शिकार

सॉरी यार! हमारे बीच इस जहाँ में तुम्हारे हत्यारे भी रहते हैं।बेहद अफसोस और शर्मिंदगी। जब जानवर कोई इंसान को मारेकहते हैं दुनिया में वहशी उसे सारेएक जानवर की जान आज इंसानों ने ली...

रिंगाल – Ringaal (Dwarf Bamboo) 3

रिंगाल – Ringaal (Dwarf Bamboo)

  उत्तराखंड के पहाड़ी गाँवों में ऐसी बहुत सी चीज़ें जैसे- विभिन्न प्रकार के वनस्पति, औषधियाँ, उपयोगी पेड़ पौधे, खनिज इत्यादि पाए जाते  हैं जिनसे हम परिचित तो होतें हैं पर दुनिया के बदलते...

यादें -ऋषि कपूर की - अलविदा Rishi Kapoor 2

यादें -ऋषि कपूर की – अलविदा Rishi Kapoor

ज़िंदगी का खेल कभी-कभी समझ के परे होता है जो ना सुख का हिस्सा होता है ना दुख का, बस अफ़सोस के ही इर्द गिर्द चक्कर लगाता है। कभी लगता है ये ज़िंदगी वाक़ई में दो दिन का खेल है जिसमें इंसान अपने हिस्से का अभिनय करके चला जाता है। रह जाती है तो सिर्फ यादें।

3

बैसाखी मेला

 बैसाखी का त्यौहार आने वाला  हैं। मगर हर साल की तरह, इस बार ये त्यौहार पूरे हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाना संभव नहीं है। क्योंकि देश एक बहुत बड़े संकट से जूझ रहा है।...

0

वसंत पंचमी-एक पौराणिक उत्सव

वसंत पंचमी, नाग पंचमी  photo credit by- google search   सरस्वती मंत्र –सरस्वती नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणी, विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु में सदा। photo credit by- google search  x हर वर्ष की तरह वसंत पंचमी आज पूरे...

0

तकनीकी & सोशल मीडिया से जुड़े कई पहलू (Digital Marketing, Social Media)

क्या तकनीकी का उपयोग पूरी तरह से हमारे हित में है ? Google Search  आज हम लोग तकनीकी के उस दौर में हैं जहां हर चीज कंप्यूटर से जुड़ी हुई है । इसके इस्तेमाल...

0

वनाग्नि | साँसे तो साँसे होती है, चाहे इंसान की हो या फिर मासूम जानवरों की |

उत्तराखंड में वनाग्नि Image by Free-Photos from  Pixabay  चीरते हुए अंधकार को जब एक दिए की लौ रौशन करती है तो बेहद ख़ूबसूरत लगती है। हवन की  चिंगारी जब हवा में उड़ती हैं तो...

खलंगा मेला – 24 नवम्बर 2019 0

खलंगा मेला – 24 नवम्बर 2019

खलंगा मेला 2019 आदिकाल से ही इनसान घुमक्क्ड प्रवृति का रहा है। घुमक्क्ड़ी हमे विरासत में मिली है। आज भी शायद ही कोई हो जिसे घूमना पसंद ना हो। आज के दौर में तो घुमक्क्ड़ी और...