गलतियाँ life quotas 0

गलतियाँ

Post Views: 89 गलतियाँ पेड़ के सूखे पत्तों की तरह होती हैं, जब तक किसी का नुकसान नहीं करती तब तक हरी भरी रहकर पेड़ से जुड़ी रहती हैं। लेकिन जब वो अपनी सीमाएँ...

संजय राणा 0

संजय राणा-sanjay rana (कहाँ तुम चले गए)

Post Views: 120 निशब्द हूँ !न केवल मैं, बल्कि हर वो शख़्स जो आपसे कभी रूबरू हुआ था।निःशब्द है हर वो गीत जिनमें मधुरता के साथ साथ आपकी छवी झलकती थी।निशब्द है संगीत की...

आग की लपेटों में जलती प्रकृति और उसकी गोद में तड़पते बेज़ुबान जीव 0

आग की लपेटों में जलती प्रकृति और उसकी गोद में तड़पते बेज़ुबान जीव

Post Views: 142 क्या हालत हो गई है हमारे जंगलों की । उत्तराखंड में जगल बुरी तरह से जल कर राख हो रहे हैं। चारों तरफ आग देखकर ऑस्ट्रेलिया में हुए हादसे की दर्दनाक...

माँ का ख़याल(Maa Ka Khayal) 0

माँ का ख़याल(Maa Ka Khayal)

Post Views: 162 आज कुछ पल सुकून के बैठी तो ख़याल आया कि, अपनी माँ की एक पेंटिंग बनाऊँ। पर जैसे ही कलम हाथ में ली तो दिल ने आवाज दी, कि तुम माँ...

Gulabi Dhoop 1

गुलाबी धूप | हिन्दी कविता

Post Views: 192 ठिठुरती ठंड में तेरा गुलाबी धूप सा मुझे छूकर मेरे कानों में धीमें से मुझे पुचकारनाऔर कहना कि मुझे प्यार की बेल सा तुमसे लिपटना है। सिमटती रात में तेरे दहकते...