Category: लेख

Naag dev 0

प्रकृति की गोद में बसा है नाग देव मंदिर

नाग देव मंदिर पौड़ी के कुछ खूबसूरत धर्म स्थलों में से एक माना जाता है। यहाँ नागों के देव नागराज की स्थापना हुई है साथ ही यहाँ शिव लिंग को भी स्थापित किया गया...

क्यूँकालेश्वर मंदिर पौड़ी गढ़वाल 1

ज़िंदगी के नए सफ़र की पहली घुमक्कड़ी (क्यूँकालेशवर मंदिर)

एक लड़की की ज़िंदगी एक ऐसा घर है जो कभी स्थिर नहीं रहती है। उसकी ज़िंदगी में बदलाव तो आते ही रहते है। वह जन्म किसी और घर में लेती है और वहाँ एक...

राम मंदिर 0

नई अयोध्या का श्री गणेश

हे! राम लला तेरे दर पर, कई दीप जले हैं आज।हे! नाथ तेरी सूरत पर, कई नैन टिके हैं आज।।तेरी भक्ति, तेरी शक्ति का, फिर शंखनाद है हुआ।तेरी नगरी में फिर से, कई फूल...

सॉरी यार 2

शर्मनाक! गर्भवती हथिनी बनी हैवानियत का शिकार

सॉरी यार! हमारे बीच इस जहाँ में तुम्हारे हत्यारे भी रहते हैं।बेहद अफसोस और शर्मिंदगी। जब जानवर कोई इंसान को मारेकहते हैं दुनिया में वहशी उसे सारेएक जानवर की जान आज इंसानों ने ली...

रिंगाल 3

रिंगाल – Ringaal (Dwarf Bamboo)

उत्तराखंड के पहाड़ी गाँवों में ऐसी बहुत सी चीज़ें जैसे- विभिन्न प्रकार के वनस्पति, औषधियाँ, उपयोगी पेड़ पौधे, खनिज इत्यादि पाए जाते  हैं जिनसे हम परिचित तो होतें हैं पर दुनिया के बदलते तौर...

यादें -ऋषि कपूर की - अलविदा Rishi Kapoor 3

यादें -ऋषि कपूर की – अलविदा Rishi Kapoor

ज़िंदगी का खेल कभी-कभी समझ के परे होता है जो ना सुख का हिस्सा होता है ना दुख का, बस अफ़सोस के ही इर्द गिर्द चक्कर लगाता है। कभी लगता है ये ज़िंदगी वाक़ई में दो दिन का खेल है जिसमें इंसान अपने हिस्से का अभिनय करके चला जाता है। रह जाती है तो सिर्फ यादें।

3

बैसाखी मेला

बैसाखी का त्यौहार आने वाला  हैं। मगर हर साल की तरह, इस बार ये त्यौहार पूरे हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाना संभव नहीं है। क्योंकि देश एक बहुत बड़े संकट से जूझ रहा है।...

0

वसंत पंचमी-एक पौराणिक उत्सव

वसंत पंचमी, नाग पंचमी  सरस्वती मंत्र –सरस्वती नमस्तुभ्यं वरदे कामरूपिणी, विद्यारम्भं करिष्यामि सिद्धिर्भवतु में सदा।   हर वर्ष की तरह वसंत पंचमी आज पूरे भारत में बड़े धूमधाम और हर्षोल्लास  के साथ मनाई जा...